कोरोना वायरस को लेकर वायरल हैं ये 5 भ्रम,जानें क्या है सच्चाई………

कोरोना वायरस को लेकर वायरल हैं ये 5 भ्रम,जानें क्या है सच्चाई….

 

चीन के वुहान शहर से शुरू हुए कोरोना वायरस का कहर अब दुनियाभर में अपना ताडंव मचा रहा है। कोरोना वायरस (COVID -19) का संक्रमण चीन के बाद ईरान, हांगकांग, जापान, इटली के बाद अब भारत में भी लोगों को संक्रमित करने की फिराक में है। हाल ही में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भारत में कोरोना वायरस से हुए संक्रमण के मामलों की पुष्टि की है। जिसके बाद भारत में भी कोरोना वायरस का खौफ लोगों के चेहरों पर देखा जा सकता है। ऐसें में इस संक्रमण से जुड़े कुछ भ्रम भी लोगों के बीच तेजी से वायरल हो रहे हैं। जिनका हकीकत से कोई वासता नहीं है। जानते हैं आखिर क्या हैं लोगों के बीच फैले ये भम्र जिनका इस बीमारी से कोई लेना देना नहीं है। ।

ये हैं वो 5 चीजें जो COVID -19 के संक्रमण को रोक या ठीक नहीं कर सकती हैं।

1-लहसुन खाने से दूर होगा कोरोना-

लहसुन एक हेल्दी फूड है जिसमें कुछ एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं। लेकिन इसके द्वारा कोरोना वायरस से नहीं बचा जा सकता है। WHO का यह ग्राफिक इसका प्रमाण है।

2-तिल का तेल शरीर में कोरोनावायरस के संक्रमण को प्रवेश करने से रोक सकता है-

बात जब सेहत की होती है तो तिल का तेल कई तरह से शरीर के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन बात जब कोरोना वायरस की होती है तो COVID-19 पर इसका कोई असर नहीं होता है। गौर करने वाली बात यह है कि अब तक कोरोना का कोई ठोस इलाज डॉक्टरों के पास मौजूद ही नहीं है। WHO की मानें तो इस वायरस का इलाज जून 2020 तक ही मिलना संभव है।

3-एंटीबॉयोटिक से कोरोना की रोकथाम संभव-

भले ही एंटीबॉयोटिक बैक्टीरिया को रोकने में मदद करते हैं लेकिन कोरोना वायरस पर ये भी बेअसर हो चुके हैं। एंटीबायोटिक्स की मदद से आप कोरोनावायरस को रोक सकते हैं यह धारणा पूरी तरह से एक मिथ है।ऐसा इसलिए क्‍योंक‍ि कोराना वायरस की दवा डॉक्टर अभी तक नहीं खोज पाए हैं।

4-गोमूत्र से होगा कोरोना का खात्मा-

असम से भाजपा विधायक सुमन हरिप्रिया के अनुसार गोमूत्र से कोरोना का निश्चित रूप से इलजा संभव हो सकता है। खबरों की मानें तो विधायक जी ने हाल ही में असम विधानसभा में कोरोना पर एक टिप्पणी करते हुए कहा, कोरोनावायरस एक हवा से होने वाली बीमारी है जिसे गौमूत्र और गाय के गोबर का इस्तेमाल करके ठीक किया जा सकता है। अगर गोमूत्र से इस संकम्रण को रोका जा सकता तो दुनियाभर के वैज्ञानिक इस वायरस को कोरने के लिए वैक्सीन नहीं खोज रहे होते। विश्व स्वास्थ्य संगठन की मानें तो कोरोनावायरस का इलाज करने के लिए अब तक कोई विशिष्ट दवाएं बाजार में उपलब्ध नहीं हैं।

5-मानसिक रूप से फिट व्यक्ति को नहीं हो सकता कोरोना वायरस-

अगर आप भी उन लोगों में शामिल हैं जो यह मानते हैं कि मानसिक रूप से फिट व्यक्ति को कोरोना वायरस नहीं घेर सकता है तो आप गलत है। कल शाम उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक संवाददाता सम्मेलन में सीओवीआईडी ​​-19 संक्रमण को रोकने के लिए योग के माध्यम से मानसिक बीमारियों पर काबू पाने की सलाह दी। योग व्यक्ति को रोग-मुक्त जीवन जीने में मदद कर सकता है, लेकिन कोरोना का इलाज इससे पूरी तरह कर पाना संभव नहीं है। कोरोनोवायरस के संक्रमण को रोकने का एकमात्र तरीका इस वायरस के संपर्क में आने से खुद को रोकना है।

कोरोना से ऐसे करें खुद का बचाव-

-हाथों को बार-बार धोएं। इसके अलावा खुद को कीटाणुओं से बचाए रखने के लिए सेनिटाइजर का प्रयोग करें।

-भीड़भाड़ में जाने से पहले मास्क का प्रयोग करें।

-अगर आप नॉन वेजिटेरियन हैं तो साफ-सफाई देखकर खाएं या फिर घर पर ही बनाकर खाएं।

-अगर आपके घर में पालतू जानवर हैं तो उन्हें सारे टीके लगवाकर रखें।

-खांसी-जुकाम होने पर घरेलू नुस्खों की जगह डॉक्टर को दिखाएं।

-जिन लोगों को सर्दी-जुकाम और खांसी है उनसे दूरी बनाए रखें।

दोस्तों अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे जनहित के लिए अपने फेसबुक पर शेयर जरुर करे .

हेल्थ संबंधी और जानकारी के लिए हमारे youtube chanel को लाइक subscribe और शेयर जरुर करे धन्वाद https://www.youtube.com/channel/UCv_gR_mNhfP-guJ530slv1w

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *