जानिए ये हैं ब्रेस्ट कैंसर के शुरुआती लक्षण, समय पर जांच बचाएगी आपकी जान

जानिए ये हैं ब्रेस्ट कैंसर के शुरुआती लक्षण, समय पर जांच बचाएगी आपकी जान……….

 

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है। साल दर साल इसके मरीज तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। ICMR के आंकड़ों के अनुसार देश में 2020 तक कैंसर के 17.3 लाख नए मामले सामने आने की आशंका है।

रिपोर्ट के अनुसार 2016 में सबसे ज्यादा मरीज स्तन कैंसर के थे। इनकी संख्या तकरीबन 1.5 लाख थी। कैंसर के बारे में एक सकारात्मक तथ्य यह है कि यदि समय रहते बीमारी का पता चल जाए तो इसका उपचार भी किया जा सकता है। ऐसा ही कुछ स्तन कैंसर के साथ भी है।

हमारे सामने आम महिलाओं के अलावा कुछ सेलिब्रिटीज के उदाहरण भी सामने हैं जिन्होंने ब्रेस्ट कैंसर के खिलाफ जंग जीतकर एक नई जिंदगी शुरू की है। हालांकि बावजूद इसके महिलाओं में इस बीमारी को लेकर जागरूकता का स्तर बेहद कम है।

तो फिर देर किस बात की है। आइए जानते हैं पूरी बात। इसी बहाने आप लोगों की भी मदद हो जाएगी। 

लक्षण 1

स्तन कैंसर का सबसे आम लक्षण स्तन पर गांठ आदि का बनना होता है। दर्दरहित, कठोर और बेढंगी सी गाठ कैंसर का संकेत होती है। कुछ मामलों में यह गांठ दर्दनाक, सॉफ्ट और गोलाकार भी हो सकती है।

लक्षण 2

यदि स्तन पर कोई नई गांठ न हो लेकिन स्तन पर या इसके किसी हिस्से पर सूजन आ रही हो तो यह चिंता का विषय हो सकता है।

लक्षण 3

यदि त्वचा पर इर्रिटेशन हो रहा हो या स्तन पर कुछ निशान बन रहे हो तो यह भी स्तन कैंसर की निशानी हो सकती है।

लक्षण 4

यदि आपको निपल या स्तन के किसी भाग में दर्द हो रहा है तो आपको इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए। इसकी जांच करा लेना ही बेहतर होता है।

लक्षण 5

‘निपल रिट्रैक्शन’ एक स्थिति होती है, जिसमें निपल का कोना बाहर निकलने की बजाए अंदर धंस जाता है। ऐसी स्थिति में भी कैंसर की आशंका बनी रहती है।

लक्षण 6

स्तन या निपल की त्वचा लाल या मोटी हो रही हो या उसकी परत निकल रही हो तो इस पर नजर रखें। साथ ही समस्या बनी रहने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

लक्षण 7

स्तन से दूध का निकलना तो आम बात है। मगर निपल से किसी और तरह का भी डिस्चार्ज हो रहा है तो इसे गंभीरता से लें।

लक्षण 8

स्तन कैंसर के मामले में गांठ या उभार हमेशा स्तन पर ही नहीं होता है। कभी-कभी स्तन से पहले गठान बांहों के नीचे या कॉलर बोन के आस-पास भी हो सकती है।

लक्षण 9

स्तन कैंसर के कुछ मामलों में स्तन पर एग्जिमा की तरह लाल चकते भी पड़ जाते हैं। ऐसा Paget’s disease नाम के रेयर कैंसर में होता है।

जांच जरूरी

विशेषज्ञों के मुताबिक इन लक्षणों पर तो नजर रखी ही जानी चाहिए। नियमित रूप से मैमोग्राफी और अन्य स्क्रीनिंग टेस्ट्स कराना भी बेहद आवश्यक होता है।

हम उम्मीद करते है की आज की यह जानकारी आपके जीवन में अत्यंत उपयोगी सिद्ध होगी | आगे भी हम आपके सेहत से जुडी ऐसी ही उपयोगी जानकारी लाते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें  , धन्यवाद |

हेल्थ संबंधी और जानकारी के लिए हमारे youtube chanel को लाइक subscribe और शेयर जरुर करे धन्वाद https://www.youtube.com/channel/UCv_gR_mNhfP-guJ530slv1w

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *